टेक्नोलॉजी

जानिए कैसे हुई इमोजी की शुरुवात

जानिए कैसे हुई इमोजी की शुरुवात

इमोजी यानि की चेहरे की मुस्कराहट जिसे देखकर फेस पर एक लंबी सी स्माइल आ जाती है।  इमोजी आज के समय की नई भाषा बन गयी है। इमोजी का इतना ज्यादा क्रेज हो गया है, कि हर उम्र का व्यक्ति इसका दीवाना हो कर रह गया है। इनके आने सी लंबी-लंबी बातें बस एक इमोजी पर ख़त्म हो जाती है। आकड़ों के मुताबिक, इंटरनेट पर ऑनलाइन रहने वाले 92 परसेंट लोग इसका यूज करते है। तो बताइये की ऐसा कैसे मुमकिन है कि इमोजी डे को सेलिब्रेट नहीं किया जाये। बता दे आज यानि की 17 जुलाई को वर्ल्ड इमोजी है। इमोजी कैलेंडर में 17 जुलाई की तारीख को इमोजी डे के तौर पर चुना गया था।

आपको बता दे 17 जुलाई के दिन फेवरेट इमोजी चुनने के लिए वोटिंग होती है पिछले साल emoji 2 को नंबर 1 emoji 1 नंबर 2 emoji  नंबर 3 इमोजी चुना गया था। इमोजी डे को लोग अपनी-अपनी पसंद के अनुसार सेलिब्रेट करते है। कई सारे लोग तो ऐसे भी है। जो खुद इमोजी बन कर पार्टी कर रहे है। बता दे एपल ने  ई सारे नए इमोजी लॉन्च किए हैं। एपल अपने आईफोन, आईपैड, एपल वॉच ग्राहकों के लिए नए 70 इमोजी का गिफ्ट लेकर आया है। इन इमोजी को  2017 के लास्ट तक सॉफ्टवेयर के साथ अपडेट कर दिया जायेगा।

जानकारी के लिए बता दे कि इमोजी की शुरुवात 90 के दशक में हो गयी थी। पहली बार स्माइली का यूज 1648 में एक कविता के लिए किया गया था। उस समय जो इमोजी इस्तेमाल किये जाते थे। वो अलग थे, और आज के समय में जो इमोजी इस्तेमाल किये जाते है। उनकी शुरूवात जापान के शिगेटाका कुरिता ने 1999 में की थी। इमोजी डे पर हो रही मस्ती के बारे में आप worldemojiday.com पर पढ़ सकते हैं। इतना ही नहीं आपको कौन सा इमोजी पसंद है। उसके लिए आप वोट भी कर सकते है।

Share This Post

Lost Password

Register