देश

अगर आप व्हीकल खरीदने का मन बना रहे हैं तो ये खबर हैं आपके लिए

अगर आप व्हीकल खरीदने का मन बना रहे हैं तो ये खबर हैं आपके लिए

अगर आप व्हीकल खरीदने का मन बना रहे हैं तो ये खबर आपके लिए है। दरअसल, व्हीकल खरीदने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को एक बड़ा आदेश जारी किया। शीर्ष कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि सितंबर से कोई भी व्हीकल Third Party Insurance के बिना नहीं बिकेगा। यानी व्हीकल खरीदने वालों को व्हीकल के साथ थर्ड पार्टी इंश्योरेंस कवर खरीदना होगा।

बताया जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने फैसला थर्ड पार्टी इंश्योरेंस कवरेज बढ़ाने को लेकर सुनाया है। 4 व्हीलर व्हीकल्स को 3 साल और टू-व्ही‍लर मालिक को 5 साल का कवर लेना अनिवार्य होगा। हालांकि सभी व्हीकल्स के लिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस जरूरी होता है, लेकिन देश में 50 फीसदी से ज्यादा ऐसी गाड़ियां सड़कों पर दौड़ रही हैं जो एक बार के बाद आगे थर्ड पार्टी इंश्योसरेंस रिन्यू नहीं कराया।

आपको बता दें कि अभी व्हीकल खरीदते समय 1 साल का इंश्योसरेंस होता है। लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट ने यह समय सीमा बढ़ा दिया है और टू-व्हीलर के लिए 5 और फोर व्हीलर व्हीकल्स के लिए 3 साल कर दिया है।

बीमा कंपनियों ने लॉन्ग टर्म मोटर इंश्योरेंस प्रोडक्ट्स डिजाइन किये है, जो व्हीकल के डैमेज के साथ थर्ड पार्टी के लिए काफी है। यहां आपको थर्ड पार्टी कवर का मतलब बता दें कि थर्ड पार्टी कवर का मतलब व्हीकल से तीसरे व्यक्ति को होने वाले नुकसान को कवर करने से है।

रोड सेफ्टी पर बनी सुप्रीम कोर्ट की कमेटी ने देश के इंश्योरेंस रेग्युलेटरी एवं डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी इरडा से कहा था कि वे बीमा कंपनियों को व्हीकल्स की सेल के समय ही एक जरूरी लॉन्ग टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी ऑफर करें।

सड़क दुर्घटनाओं की 2015 की केंद्र सरकार की रिपोर्ट के मुताबिक हर रोज करीब 1,374 सड़क हादसे और 400 मौतें होती हैं। जबकि इंश्योरेंस क्लेम की कोई लीगल टाइम लिमिट नहीं है। एक्सीडेंट के मामलों को दुर्घटना स्थल के पास दायर किया जाता है या जहां पीड़ित रहता है, इससे इंश्योरेंस क्लेम में दिक्कत होती है। कई मामलों में तो ऐसा भी होता है कि इंश्योरेंस होता ही नहीं है।

इरडा के प्रकाशित आंकड़ों पर गौर किया जाए तो सामान्य बीमा कंपनियों ने पिछले फाइनेंशियल ईयर में मोटर सेगमेंट के थर्ड पार्टी इंश्‍योरेंस के तहत 26,523 करोड़ रुपये इकट्ठा किए थे। तो वहीं, व्‍हीकल ऑनर के कवरेज के लिए 23,727 करोड़ प्रीमियम जुटाये गये।

Lost Password

Register