मनोरंजन

आंधी-तूफान की चपेट से बाल-बाल बचीं सांसद हेमा मालिनी

आंधी-तूफान की चपेट से बाल-बाल बचीं सांसद हेमा मालिनी

यूपी के मथुरा लोकसभा क्षेत्र से बीजेपी सांसद हेमा मालिनी रविवार की शाम आए तेज आंधी-तूफान में घायल होने से बाल-बाल बच गईं। हेमा मालिनी एक गांव में सभा को संबोधित करके लौंट रही थीं उसी समय आंधी-तूफान की वजह से एक पेड़ उनके काफिले के आगे गिर गया। जिससे वह घायल होने से बाल-बाल बच गईं।

हालांकि खराब मौसम को देखते हुए उनका ड्राइवर सतर्क होकर गाड़ी चला रहा था उसने पेड़ से टकराने से पहले ही गाड़ी को ब्रेक लगाकर उसे अपने नियंत्रण में ले लिया, जिससे हादसा होते-होते रह गया। जिसको बाद सांसद के सुरक्षा कर्मियों और कार्यकर्ताओं ने साथ मिलकर पेड़ हो कटाया और रास्ते को साफ किया।

जानकारी के अनुसार हेमा मालिनी मांट तहसील के मिट्ठौली गांव में जनसभा करने के लिए जा रही थीं। इसके साथ ही वह बीजेपी के सरकार की चौथी वर्षगांठ से पूर्व वहां ग्रामीणों के लिए नरेंद्र मोदी के ‘सबका साथ, सबका विकास’ नारे का संदेश देने गई हुईं थीं।

हालांकि सभा संबोधित करते समय खराब मौसम के कारण उन्होंने सभा छोड़कर वापस लौटने का फैसला किया। लौटते समय वह कुछ ही दूरी पर पहुंची थीं कि उनके काफिले के आगे पेड़ गिर गया। जिससे उनकी गाड़ी टकराने में बच गई। जिसके बाद सभी सुरक्षा कर्मियों और कार्यकर्ताओं ने साथ मिलकर पेड़ हो कटाया और रास्ते को साफ किया। यह कार्य करने में उनको आधे घंटे का समय लग लग गया।

गौरतलब है कि देशभर में रविवार की शाम तेज आंधी तूफान ने कई लोगों की जान ले ली है। वहीं कई जगहों पर बिजली के गिरने की भी खबरें हैं। बता दें यूपी के संभल में स्थित राजपुरा में आकासीय बिजली गिरी जिसके बाद उसने भयानक आग का रूप ले लिया। इस भयानक आग में सैंकड़ों की संख्या में घर जलकर तबाह हो गए। जिसके बाद आग पर काबू पाने के लिए दमकल विभाग की तीन गाड़ियों को बुलाया गया।

इसके साथ ही अचानक मौसम में आए बदला और तेज तूफान के कारण उत्तर से दक्षिण भारत तक भारी मात्रा में नुकसान की खबरें हैं। इसकी वजह से 50 से अधिक लोगों की मौत हो गई और कई लोग घायल भी हुए हैं। खबरों के अनुसार उत्तर प्रदेश में 21, दिल्ली में 2 और बंगाल में 12 लोगों की मौंत हुईं हैं। वहीं तेलंगाना में आकीशीय बिजली गिरने से 9 लोगों की जान चली गई।

Share This Post

Lost Password

Register