लाइफस्टाइल

इन टिप्स को अपनाकर घटा सकते हैं अपना बिजली का बिल

इन टिप्स को अपनाकर घटा सकते हैं अपना बिजली का बिल

समय के साथ जिस तरह से हमारा समाज आधुनिकता की ओर दौड़ लगा रहा है ठीक उसी तरह से हमारी जरूरते भी अंधाधुंध बढ़ रही है. आज हमारी जरूरते इतनी बढ़ गई है कि या कहे जीवन को आरामदायक बनाने के लिए हम बिजली का अधिक उपयोग करने लगे हैं. अब जब बिजली का ज्यादा उपयोग कर रहे हैं तो जाहिर सी बात है कि बिजली का बिल भी उसी हिसाब से आएगा. जब महीने के अंत में लंबा चौड़ा बिजली का बिल आता है तो लोग उसे देख कर परेशान हो जाते हैं. यहां हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बता रहे हैं जिनसे आप अपने बिजली के बिल में काफी हद तक बचत कर कर सकते हैं-

ये बात तो हम जानते ही हैं कि ट्यूबलाइट और बल्ब की जगह CFL और LED लाइट का इस्तेमाल करने से बिजली के बिल को कम किया जा सकता है. लेकिन सच ये है कि बल्ब और ट्यूबलाइट से ज्यादा बिजली का इस्तेमाल पंखा करता है. दरअसल, लाइट का इस्तेमाल अंधेरा होने के बाद ही किया जाता है. जबकि पंखा ज्यादातर घरों में दिन रात चलता ही रहता है. जिस वजह से लाइट एक घंटे में 55 वॉट इस्तेमाल करती है इसके मुकाबले एवरेज पंखा एक घंटे में 75 वॉट इस्तेमाल करता है.

इतना ही नहीं बल्कि, सस्ता और पुराना पंखा एक घंटे में 90 से ज्यादा वॉट का इस्तेमाल करता है. अगर आप अपने बिजली के बिल को कम करना चाहते हैं तो अपने पुराने पंखे की जगह पावर सेवर पंखे का इस्तेमाल करें. क्योंकि ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी (BEE) मॉडल पंखा एक घंटे में केवल 50 वॉट का ही इस्तेमाल करता है. Bijlibachao.com की एक स्टडी के मुताबिक, 8 साल पुराना पंखा 92 वॉट का इस्तेमाल करता है. अजकल बाजारों में ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी (BEE) मॉडल के पंखे मौजूद हैं जो केवल 35 वॉट का ही इस्तेमाल करते हैं.

बिजली का ज्यादा बिल आने के लिए A.C. सबसे ज्यादा जिम्मेदार होता है. अगर आप A.C. खरीदने की प्लानिंग कर रहे हैं तो ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी (BEE) मॉडल ही खरादें. अगर स्प्लिट या विंडो A.C में कंफ्यूज हैं तो स्प्लिट A.C को ही चुनें. Bijlibachao.com के फाउंडर अभिषेक जैन ने बताया, इनवर्टर से चलने वाला A.C. थोड़ा महंगा होता है लेकिन बिजली का इस्तेमाल कम करता है.’ उन्होंने लोगों को इनवर्टर से चलने वाला A.C खरीदनें की सलाह दी है.

बता दें, 1.5 टन का पुराना A.C एक घंटे में 1.5 यूनिट इस्तेमाल करता है, जबकि इनवर्टर से चलने वाले A.C. एक घंटे में सिर्फ 0.91 यूनिट ही इस्तेमाल करता है.

अगर आप दिन में 5 घंटे पुराने एसी का इस्तेमाल करते हैं तो साल में लगभग 27,372 रुपए का बिल आपको चुकाना पड़ सकता है जबकि इतने ही समय के लिए इनवर्टर एसी का इस्तेमाल करने से आपका बिल करीब 16,670 रुपए तक आएगा यानी आपको कम से कम सालाना 10,000 रुपए तक की बचत हो सकती है.

बिजली के बिल का 15 फीसदी हिस्सा घर में हर समय चलने वाले फ्रिज के कारण आता है. लेकिन आप इस 15 फीसदी को भी कम कर सकते हैं. अपने फ्रिज को दीवार से करीबन 2 इंच की दूरी पर रखें. फ्रिज को धूप की रोशनी से बचाकर रखें. धूप में रहने से फ्रिज ज्यादा बिजली का इस्तेमाल करता है.

अपने फ्रिज में ज्यादा सामान भरकर ना रखें. बड़े और जल्दी बर्फ जमाने वाले फ्रिज ज्यादा एनर्जी का इस्तेमाल करते हैं. अगर आप नया फ्रिज लेना चाहते हैं तो ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी (BEE) मॉडल फ्रिज ही खरीदें. इससे आप सालभर में अपने बिजली के बिल में 15,00 रुपय की बचत कर सकते हैं.

अगर आपको लगता है कि अपनी डिवाइस बंद करने से आप बिजली के बिल को कम कर सकते हैं तो आप गलत हैं. क्योंकि स्टैंडबाय पावर लगातार बिजली का उपयोग करती रहती है. अमेरिका की डिपार्टमेंट ऑफ एनर्जी द्वारा की गई एक स्टडी की मानें तो, DVD प्लेयर स्टैंडबाय में 7.54 वॉट का इस्तेमाल करता है, जबकि सेट टॉप बॉक्स 17.8 वॉट इस्तेमाल करता है. जो एप्लायंस इस्तेमाल में नहीं आते उनकों पलग इन न करें.

अगर आपको लगता है कि आपका बिजली का बिल बहुत ज्यादा आता है तो ये जानने की कोशिश करें कि कौन सा एप्लायंस कितनी यूनिट इस्तेमाल कर रहा है.

Bijlibachao.com वेबसाइट पर अब आप पता लग सकते हैं कि किस एप्लाइंस के लिए आप कितना बिल दे रहे हैं.

घर में मौजूद बल्ब और ट्यूबलाइट की जगह सीएफएल या एलईडी लाइट का इस्तेमाल करें. सीएफएल लाइट बल्ब के मुकाबले 80 फीसदी कम बिजली का इस्तेमाल करती है.

Lost Password

Register