देश / मुख्य खबर

उन्नाव गैंगरेप केस में CBI ने की पुष्टि, MLA कुलदीप सिंह सेंगर ने पीड़ता के साथ किया था रेप

उन्नाव गैंगरेप केस में CBI ने की पुष्टि, MLA कुलदीप सिंह सेंगर ने पीड़ता के साथ किया था रेप

उन्नाव गैंगरेप केस में पीड़िता द्वारा लगाए गए आरोपों की सीबीआई ने पुष्टि कर दी है इन आरोपों में कहा गया था कि पिछले साल 4 जून को बीजेपी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने पीड़ता के साथ रेप किया था और उनकी महिला सहयोगी शशि सिंह कमरे के बाहर पहरा दिया था।

खबरों के अनुसार जहां पीड़ता लगातार विधायक सेंगर का नाम लेती रही पर वहां की पुलिस ने 20 जून को दर्ज की गई FIR में विधायक के साथ अन्य आरोपियों के नाम को शामिल नहीं किया।

CBI ने सीआरपीसी की धारा 164 के तहत पीड़िता के बयान को कोर्ट में पेश किया इन बयानों में वह आपने आरोपों पर कायम रही। वहीं CBI के एक अधिकारी के मुताबित पीड़िता की मेडिकल जांच में भी देरी की गई थी। इसके साथ ही लड़की के कपड़ों और वजाइनल स्वैब को फरेंसिक लैब नहीं भेजा उन्होंने आगे कहा कि, ‘यह सबकुछ जानबूझकर और आरोपियों की मिलीभगत से किया गया।’

आपको बता दें सीबीआई ने सेंगर, शशि सिंह समेत अन्य आरोपियों को इसी साल 13-14 अप्रैल को अरेस्ट किया था। जिसके बाद पुलिस ने उनके पूछताछ की और पुलिस के साथ उनकी सांठगांठ के बारे में भी पता लगा रही है। चारों ओर आलोचना के बाद इस मामले को यूपी सरकार ने सीबीआई के हाथों में सौंप दिया था।

पीड़िता द्वारा दिए गए सीबीआई को बयान और स्वतंत्रता पूर्वक जांच के आधार पर एजेंसी ने बताया ‘शशि द्वारा नौकरी का झांसा देकर विधायक के घर लड़की को लाया गया था, जिसके बाद विधायक ने 4 जून को लड़की के साथ रेप किया था। 4 और 10 जून के बीच लड़की कुछ नहीं बोली क्योंकि उसे धमकाया गया था। 11 जून को उसका तीन लोगों शुभम सिंह, अवध नारायण और ब्रिजेश यादव ने अपहरण कर लिया। 11 से 19 जून तक लड़की ज्यादातर एसयूवी में घूमती रही और उसके साथ चलती गाड़ी में तीनों लगातार रेप करते रहे।’

इससे पहले पीड़ित परिवार ने पुलिस पर गलत तरीके से शिकायत दर्ज करने का आरोप लगाया था। पीड़िता परिवार का आरोप है कि पुलिस ने गलत तरीके से शिकायत दर्ज कर सीबीआई को सौंपा था ताकि आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ केस को कमजोर किया जा सके।

Share This Post

Lost Password

Register