Loading...
दुनिया

किम जोंग सरहद पार कर पैदल पहुंचा साउथ कोरिया

किम जोंग सरहद पार कर पैदल पहुंचा साउथ कोरिया

नॉर्थ कोरिया का तानाशाह किम जोंग के एक के बाद एक फैसले ने पूरी दुनिया को हैरान कर दिया है। पहले अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात का फैसला, फिर नॉर्थ कोरिया में चल रहे परमाणु परिक्षण का को बंद करने का फैसला और अब नॉर्थ कोरिया का दुश्मन नंबर एक उतर कोरिया जाकर राष्ट्रपति मून से मुलाकात करना। ये किम जोंग का वो फैसला है जिसने पूरे विश्व को चौकाया हैं।

दरअसल, शुक्रवार को किम जोंग ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति से मुलाकात की है। इस मुलाकात के दौरान किम जोंग ने कहा है कि जब मैं सरहद पार कर रहा था, तो मैंने सोचा की इस लाइन को पार करना इतना भी मुश्किल नहीं था। उन्होंने कहा कि यह लाइन इतनी भी बड़ी नहीं थी कि इसे पार न किया जा सकें। हमें यहां आते आते 11 साल लग गए। वहीं दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून ने कहा कि अब ये लाइन सरहद बांटने के लिए नहीं बल्कि शांति प्रस्ताव को आगे बढ़ाने के लिए काम में आएंगी। साथ ही उन्होंने किम जोंग के इस फैसले को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि नॉर्थ कोरिया के राष्ट्रपति द्वारा किया गया ये फैसला काफी सराहनीय है।

बता दें कि नॉर्थ कोरिया और साउथ कोरिया के बीच ऐतिहासिक वार्ता होने जा रही है। शुक्रवार को नॉर्थ कोरिया के राष्ट्रपति किम जोंग ने पैदल ही सरहद पार कर दक्षिण कोरिया आए। 1950 से 1953 तक चले कोरियाई यु्द्ध की समाप्ती के बाद किग जोंग पहले नेता हैं जिन्होंने दक्षिण कोरिया की जमीन पर पैर खा है।

गौरतलब है कि नॉर्थ कोरिया और साउथ कोरिया के बीच होने वाली ऐतिहासिक सम्मेलन साउथ कोरिया के पनमुनजोम में होगा। दरअसल, पनमुनजोम की वो जगह है जहां नॉर्थ कोरिया, साउथ कोरिया और अमेरिका की सेना एक दूसरे के समक्ष खड़े रहते हैं। कोरियाई युद्ध के बाद 1953 से ही यहां युद्धविराम लागू है।

Lost Password

Register