Loading...
देश / मुख्य खबर

केंद्र सरकार करने जा रही है कानून में बदलाव, अब रेप के दोषियों को मिलेगी सजा-ए-मौत

केंद्र सरकार करने जा रही है कानून में बदलाव, अब रेप के दोषियों को मिलेगी सजा-ए-मौत

उन्नाव और कठुआ गैंगरेप की घटना से पूरा देश आहत है। आए दिन मासूम बच्चियों से रेप की घटना को लेकर अब सरकार भी सख्त हो गई है। केंद्र सरकार मासूम बच्चियों से रेप को लेकर पुराने कानून में बदलाव करने जा रही है। इस बदलाव के तहत 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से रेप के दोषियों को फांसी की सजा दिए जाने का प्रावधान किया जाएगा।

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एक चिट्ठी भेजी है, जिसमें कहा गया है कि 12 साल तक के बच्चों के साथ रेप के दोषियों को अधिकतम फांसी की सजा का प्रावधान करने के लिए केंद्र सरकार पोक्सो (POCSO) ऐक्ट में बदलाव करने जा रही है। केंद्र सरकार ने कहा है कि इस कानूनी बदलाव पर काम भी शुरू हो चुका है। अब इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में 27 अप्रैल को सुनवाई होगी, जिसके बाद ही सबकुछ साफ हो पाएगा।

बता दें कि हरियाणा सरकार ने ऐसा कानून पारित भी कर दिया है। हाल ही में हरियाणा विधानसभा में दंड विधि संशोधन विधेयक 2018 पारित कर एक नई मिसाल पेश की गई थी। इस विधेयक के मुताबिक 12 साल या उससे कम उम्र की बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने वालों को मौत की सजा दी जाएगी। सरकार की ओर से पारित किए गए इस कानून पर सरकार ने मुहर भी लगा दी है।

बिल पेश करने के बाद सीएम खट्टर ने कहा था कि इस बिल के पास होने से अब अपराधियों के दिल में निश्चित ही डर पैदा होगा, साथ ही हाल के वर्षों में जो बच्चियों के साथ दुष्कर्म के बढ़ने के मामले सामने आए हैं, उनमें कमी आएगी।

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के बाद हरियाणा दूसरा ऐसा राज्य बन गया है, जहां बच्चियों से दुष्कर्म करने वालों के लिए इस तरह के सख्त कानून बनाए गए हैं। जो विधेयक पारित किया गया है, उसके मुताबिक अब दुष्कर्म करने वाले आरोपियों को 14 साल तक की कैद या फांसी की सजा हो सकती है। इतना ही नहीं, सजा की इस अवधि को और भी बढ़ाया जा सकता है।

Lost Password

Register