टेक्नोलॉजी

जानें, टर्म इंश्योरेंस लेने के हैं कौन से 5 बड़े फायदे

जानें, टर्म इंश्योरेंस लेने के हैं कौन से 5 बड़े फायदे

एक कमाने वाला व्यक्ति ना सिर्फ अपने लिए कमाता है बल्कि उस पर या उसकी कमाई पर अक्सर घर के अन्य लोग भी निर्भर होते हैं. ऐसे में अगर इस कमाने वाले शख़्स के साथ अचानक से कोई अनहोनी हो जाती है तो इस स्थिती के लिए परिवार को आर्थिक रूप से सुरक्षित करने के लिए एक सबसे आसान तरीका टर्म इंश्योरेंस है. यब सभी कमाने वालों के लिए बेहद आवश्यक है क्योंकि यह पॉलिसी धारक की गैर-मौजूदगी में उनके आश्रितों को बेहतर जीवनशैली बनाए रखने में मदद करता है. यदि आप अभी भी इस बारे में सोच रहे हैं तो यहां जानें क्यों है यह जरूरी-

 आपकी मौत होने पर आपकी आमदनी की भरपाई करेगा

एक टर्म प्लान एक प्योर रिस्क-कवर प्लान है जो पॉलिसी धारक की मौत होने पर लाभार्थियों को इंश्योरेंस का पैसा देकर उनकी मदद करता है. टर्म प्लान की कोई मैच्योरिटी वैल्यू नहीं होती. लेकिन, असमय मौत होने पर यह एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. इंश्योरेंस के पैसे से आपके बच्चे की पढ़ाई-लिखाई हो सकती है, आपका लोन चुकाया जा सकता है. यह आपकी पत्नी के लिए आमदनी के एक वैकल्पिक स्रोत की तरह काम कर सकता है. याद रखें, जिंदगी का कोई भरोसा नहीं है और आप नहीं चाहेंगे कि आपकी अचानक मौत होने पर आपके परिवार को आर्थिक परेशानियों से गुजरना पड़े.

सस्ता हैफिर भी भरपूर सुरक्षा देता है

आप जितनी जल्दी एक टर्म प्लान खरीदेंगे, प्रीमियम उतना ज्यादा सस्ता होगा. टर्म प्लान की अवधि लगभग 5 से 30 साल के बीच होती है. यदि आप 20 साल की उम्र में इसे खरीद लेंगे तो आपको 30 साल की उम्र में लगने वाले प्रीमियम से कम प्रीमियम देना पड़ेगा. इस तरह यह अधिक से अधिक लाभों वाला सबसे सस्ता इंश्योरेंस प्लान बन जाता है. अतिरिक्त रिटर्न देने वाले इंश्योरेंस प्लान का चयन करने पर आपको अधिक प्रीमियम देना पड़ता है और उसमें टर्म प्लान की तुलना में कम लाइफ कवर मिलता है. इस तरह यह साबित हो जाता है कि टर्म प्लान, कम प्रीमियम में ज्यादा सुरक्षा देता है.

सभी देनदारियों से आपके परिवार की रक्षा करता है

एक टर्म प्लान आपकी मौत के बाद आपके परिवार की रोजमर्रा के खर्च का ही नहीं बल्कि अन्य महत्वपूर्ण बातों जैसे कर्ज चुकाने इत्यादि का भी ख्याल रखेगा. यह एक निर्धारित समय अवधि तक एक निर्धारित प्रीमियम पर एक निर्धारित इंश्योरेंस की रकम देता है. पॉलिसी धारक की मौत हो जाने पर, इंश्योरेंस का पैसा परिवार को दे दिया जाता है जिसकी मदद से वे सभी कर्ज और देनदारियों का निपटारा कर सकते हैं. इस पैसे से आपके होम लोन, और आपके बच्चे की ऊंची शिक्षा और शादी सबका ख्याल रखा जा सकता है. एक टर्म प्लान, परिवार के लिए रोजी-रोटी कमाने वाले पॉलिसी धारक की मौत के बाद भी उसके परिवार की जीवनशैली को सुरक्षित रखता है.

टैक्स लाभ

आयकर अधिनियम की धारा 80 C के अंतर्गत टर्म इंश्योरेंस के लिए दिए गए प्रीमियम पर टैक्स लाभ भी मिलता है. मैच्योरिटी क्लेम भी टैक्स फ्री होता है. टर्म इंश्योरेंस का प्रीमियम काफी कम होने के कारण, आप बचे हुए पैसे को अच्छा रिटर्न देने वाले अन्य टैक्स सेविंग साधनों में निवेश कर सकते हैं.

फ्लेक्सिबिलिटी और सुविधा

चूंकि टर्म प्लान को ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से ख़रीदा जा सकता है इसलिए एक उपयुक्त प्लान चुनना आसान और सुविधाजनक है. ऑनलाइन पर प्लान खरीदने से आप मिस-सेलिंग का शिकार बनने से भी बच जाते हैं और अलग-अलग लाइफ इंश्योरेंस कंपनियों के प्लान्स की तुलना करके अच्छी तरह सोच-समझकर एक सही प्लान चुनने में भी मदद मिलती है.

 

Lost Password

Register