टेक्नोलॉजी

जियो बनी देश की तीसरी सबसे बड़ी कंपनी

जियो बनी देश की तीसरी सबसे बड़ी कंपनी

रेवेन्यू मार्केट शेयर के हिसाब से मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो इन्फोकॉम भारत की तीसरे नंबर की टेलिकॉम कंपनी बन चुकी है। जियो कई कंपनियों को पीछे छोड़कर सबसे आगे निकल आई है। वह आइडिया सेल्युलर को पीछे छोड़ते हुए वोडाफोन के करीब पहुंचती दिखाई दे रही है। उसकी प्लानिंग ने बाकी सब कंपनियों की नींद उड़ा दी है।

टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया की तरफ से आये 2018 डेटा के मुताबिक, काम शुरू करने के कुछ महीनों बाद ही जियो का रेवेन्यू मार्केट शेयर मार्च के अंत तक 20 पर्सेंट तक जा चुका था। आइडिया का रेवेन्यू मार्केट कम होकर 16.5 पर्सेंट आ चुका है, जबकि वोडाफोन इंडिया का रेवेन्यू मार्केट 21 पर्सेंट हो गया है और सुनील मित्तल की एयरटेल का 32 पर्सेंट हो गया है। फिलहाल अगर किसी छोटी कंपनी को घाटा हुआ है तो वह बड़ी कंपनियों के साथ मर्जर हो गई हैं।

बता दें, कि इसी महीने में आइडिया और वोडाफोन का मर्जर होगा, जिससे 63000 करोड़ की कंपनी को आमदनी होगी, जिसके बाद इसके पास लगभग 43 करोड़ ग्राहक होंगे। इस कंपनी के मर्जर होने के बाद एयरटेल और जियो का नंबर होगा। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने कहा है,जियो पहले से ही 18 सर्कल्स में 1 या नंबर 2 पर है।

जियो ने सितंबर 2016 में अखिल भारतीय 4जी नेटवर्क के साथ अपना काम शुरू किया था। ट्राई के मिले डेटा की जाँच करते हुए भारतीय औद्योगिक ऋण और निवेश निगम सिक्योरिटीज ने कहा है कि मार्च क्वार्टर के एडजस्ट ग्रॉस रेवेन्यू आधार पर 18 प्रतिशत से बढ़कर 6300 करोड़ रुपये हो गया था। तो वही एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया का आंकड़ा घटकर 10,100 करोड़ रुपये, 6700 करोड़ और 5200 करोड़ रुपये रहा है।

आपको बता दें फिलिप कैपिटल के टेलिकॉम एनालिस्ट नवीन कुलकर्णी ने कहा है कि जियो की आरएमएस के विकास को देखते हुए लग रहा है कि, वह आसानी से वोडाफोन को 2019 के पहले पीछे छोड़ सकती है

आईसीआईसीआ सिक्योरिटीज के टेलिकॉम रिसर्च एनालिस्ट संदेश जैन ने कहा है कि मार्च क्वार्टर की अवधि में एयरटेल, वोडाफोन इंडिया और आइडिया की एजीआर ग्रोथ 22 सर्कल्स में से क्रमानुसार 6,5 और 2 सर्कल्स में ही रही है, और ये भी हो सकता है कि इसके चलते जियो का रेवेन्यू शेयर दमदार ढंग से बढ़ा हो।

Share This Post

Lost Password

Register