Loading...
देश / मुख्य खबर

ट्विटर ने आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले दस लाख अकाउंट्स को किया बंद

ट्विटर ने आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले दस लाख अकाउंट्स को किया बंद

माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने एक बड़ा फैसला लेते हुए आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले दस लाख अकाउंट्स को बंद कर दिया है। ट्विटर ने इस बात की जानकारी गुरुवार को देते हुए कहा कि, साल 2015 से अब तक हम आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले 10 लाख अकाउंट्स को बंद कर चुके हैं। इसके साथ ही उसने आगे कहा कि हमारे प्लेटफॉर्म पर आतंकवाद से संबधित गतिविधियों के लिए कोई स्थान नहीं है।

अपनी रिपोर्ट में ट्विटर ने बताया कि, साल 2017 में हमने जुलाई से लेकर दिसंबर तक ऐसे 274,460 अकाउंट्स को सस्पेंड किया है जो आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे थे। इसकी पहली रिपोर्ट को देखते हुए यह आंकड़ा 8.4 फीसदी कम है।

ट्विटर ने अपने एक स्टेटमेंट को जारी करते हुए कहा कि, ‘सालों की कड़ी मेहनत के बाद हम अपने प्लैटफॉर्म को एक ऐसी जगह बनाने में कामयाब हुए हैं, जहां हिंसा और आतंकवाद जैसी चीजों के लिए कोई जगह नहीं है। हमें यह बदलाव नजर भी आ रहा है। ट्विटर पर होने वाली ऐसी गतिविधियों में अब कमी आई है।’

आपको बता दें कि, कई देशों के द्वारा ट्विटर पर दबाव डाला जा रहा था कि वह उसके प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर जिहाद और आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले लोगों के अकाउंट्स पर नकेल कसने से साथ एक ऐसा प्लेफॉर्म तैयार करे यहां लोगों को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता मिले।

ट्विटर ने अपनी रिपोर्ट में आगे कहा कि, उसको 93 फीसदी अकाउंट पर उसके इंटरनल टूल्स के कारण बंद कर ने सफलता मिली है। वहीं ट्विटर पर 74 फीसदी अकाउंट को उनके फस्ट ट्वीट करने से पहले ही बंद कर दिया गया है।

इसके साथ ही ट्विटर ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि, सरकारी रिकॉर्ड में आतंकवाद को बढ़ावा देने वाली जितनी भी रिपोर्ट दर्ज हैं वे अब तक बंद किये गये अकाउंट्स के 0.2 % भाग से भी कम हैं।

Lost Password

Register