Loading...
देश

पद्मावती के रिलीज को लेकर चौतरफा विरोध जारी

पद्मावती के रिलीज को लेकर चौतरफा विरोध जारी

लगातार विवादों में चल रही निर्देशक संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती के रिलीज पर रोक लगाने को लेकर विरोध जारी है। रविवार को यूपी के कई हिस्सों में पद्मावती फिल्म को लेकर विरोध देखने को मिला। हालांकि इस संबंध में दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने मामले में दखल देने से इंकार कर दिया था।

नोएडा में फिल्म को लेकर प्रदर्शन
देशभर में फिल्म पद्मावती के रिलीज को लेकर प्रदर्शन जोर पकड़ता जा रहा है। राजस्थान से शुरू हुए इस प्रदर्शन की आग अब नोएडा में भी पहुंच गई है। नोएडा के सेक्टर 39 में स्थित जीआईपी मॉल में आज राजपूत उत्थान सभा के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने पद्मावती के रिलीज होने का विरोध किया। वहीं राजपूत उत्थान सभा के जिला अध्यक्ष धीरज सिंह ने कहा संजय लीला भंसाली द्वारा फिल्म में महारानी पद्मावती के चरित्र को गलत फिल्माया गया है। फिल्म में पद्मावती का प्रेम प्रसंग अलाउद्दीन खिलजी के साथ दिखाया गया है जब की किसी भी ऐतिहासिक पुस्तक या किसी प्रसंग में इसका प्रमाण नहीं है। जिस तरीके से फिल्मकारों द्वारा इतिहास को तोड़ मरोड़ कर पेश किया जा रहा है, राजपूत उत्थान सभा इसका पुरजोर विरोध कर रही है और किसी भी कीमत पर इस फिल्म को रिलीज नहीं होने दिया जाएगा।

वाराणसी में भी जताया गया विरोध
फिल्म पद्मावती के रिलीज पर रोक लगाने को लेकर वाराणसी में क्षत्रीय समाज की महिलाओं ने शहर के लहुरावीर स्थित आजाद पार्क के पास पद्मावती फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली के प्रतिक पुतले को न केवल आग के हवाले किया, बल्कि उसकी बेलन से पिटाई भी की। वाराणसी के लहुरावीर आजाद पार्क के पास क्षत्रीय विरांगना फॉउंडेशन के बैनर तले जुटी दर्जेनों महिलाओं ने अनोखे ढंग से फिल्म पद्मावती और निर्माता संजय लीला भंसाली का विरोध किया। इस दौरान महिलाओं ने एक नन्ही सी बच्ची को पद्मावती के रूप में दिखाया साथ ही कागजों की बेड़ियों में जकड़े एक बच्चे को संजय लीला भंसाली का रूप दिया। प्रदशर्नकारी महिलाओं ने बैनर-होर्डिंग और विरोध के स्वर के साथ संजय लीला भंसाली के प्रतीक पुतले को आग के हवाले भी किया साथ ही पुतले की बेलन से पिटाई भी की।

 

 

[घर बैठे रोज़गार पाने के लिए Like करें हमारा Facebook Page और मेसेज करें JOB]

Lost Password

Register