आस्था

प्यार में सबसे भाग्यशाली होते हैं ये 6 राशि जोड़े

प्यार में सबसे भाग्यशाली होते हैं ये 6 राशि जोड़े

रिश्तों की सफलता

किसी भी रिश्ते के सफल होने में सबसे बड़ी भूमिका जो निभाती है वह एक-दूसरे के प्रति समझ। चाहे वह माता-पिता के साथ बच्चों का रिश्ता हो या भाई-बहनों या दोस्ती का रिश्ता, अगर एक-दूसरे के प्रति समझ ना हो तो उसमें हमेशा तनाव और दुख पैदा होता है। जब बात प्रेमी जोड़ों या वैवाहिक रिश्तों की आती है तो यह बात और भी जरूरी हो जाती है। ज्योतिष शास्त्र में इसे राशियों से जोड़कर देखा जाता है।

राशियों की जोड़ियां

इसके अनुसार हर राशि एक तत्व से प्रभावित होती है और इसी के अनुसार दूसरी राशि के प्रति उनमें समझ या अपनत्व की भावना आती है। यहं हम आपको राशियों की 6 जोड़ियों के बारे में बता रहे हैं जो एक-दूसरे की पूरक मानी जाती हैं। ज्योतिष शास्त्र की मानें तो स्वर्ग में बनकर आती हैं इनकी जोड़ियां, इसलिए इनमें एक-दूसरे के लिए बहुत अच्छी समझ और लगाव होता है। अगर इनकी जोड़ी बन गई तो ऐसे जोड़े दुनिया के कुछ सबसे भाग्यशाली लोगों में कहे जा सकते हैं।

 तुला और वृश्चिक

इन दोनों ही राशियों के लोग बेहद ऊर्जावान होते हैं। इनके सफल रिश्ते की एक बड़ी वजह यह भी होती है। तुला राशि वालों की गहरी चाहत होती है कि उनका पार्टनर अपनी हर बात के लिए उनपर निर्भर रहे और वृश्चिक राशि वाले एक ऐसा पार्टनर चाहते हैं जो उनकी हर बात की परवाह करे।

 तुला और वृश्चिक

हालांकि इन दोनों ही राशियों की अपनी खास पसंदगी होती है, फिर भी ये एक-दूसरे के प्रति आकर्षित होते हैं। इनकी जोड़ी ऐसी होती है कि अगर एक-दूजे का हाथ थाम लिया तो फिर कोई भी इन्हें अलग नहीं कर सकता। इनका आत्मिक लगाव इतना गहरा होता है जिससे कई बार लोगों को जलन भी हो जाती है।

मीन और कर्क

सभी 12 राशियों में इन दोनों की जोड़ी एक दूसरे के लिए सबसे अधिक पागल होती है। व्यक्तिगत तौर पर ये दोनों ना सिर्फ भावुक होते हैं बल्कि इनकी सिक्स सेंस भी बहुत अच्छी होती है। इन समानताओं के कारण ये दूसरे के प्रति बहुत जल्दी और बहुत अधिक आकर्षित होते हैं।

 मीन और कर्क

जितना अधिक ये एक-दूसरे को समझते हैं और एक-दूसरे के प्रति जुनूनी होते हैं ऐसा प्यार किसी और जोड़ी में नहीं दिखता। ये ऐसी जोड़ी है जिन्हें चाहे कितनी भी मुश्किलों और अभावों में डाल दिया जाए, एक-दूजे के लिए इनका प्यार कभी कम नहीं होता।

 धनु और मेष

इन दो राशियों के बीच आकर्षण इतना गहरा होता है कि अगर ये एक-दूसरे के प्यार में पड़ जाएं तो इन्हें कोई अलग नहीं कर सकता। बिना कुछ कहे भी ये एक-दूसरे को इतनी अच्छी तरह समझ सकते हैं जैसे एक दूसरे का दिमाग पढ़ सकते हों। इनकी पूरी दुनिया ही एक दूसरे में ही होती है और जब ये साथ होते हैं इन्हें किसी और के साथ साथ की जरूरत नहीं होती।

धनु और मेष

चाहे वह किसी मुद्दे पर बहस करनी हो, घूमने जाना हो या कोई भी और बात, ये हर तरह से एक-दूसरे को पूरा करते हैं। इनके रिश्ते की शुरुआत तो पहले दोस्ती से होती है लेकिन आखिरकार जब ये एक-दूसरे के प्यार में पड़ते हैं तो मरते दम तक साथ नहीं छोड़ते।

 मिथुन और कुंभ

इनमें एक-दूसरे के लिए एक प्रकार का चुंबकीय आकर्षण होता है या यूं कहें कि एक-दूसरे के लिए ये खिंचे चले आते हैं। इसके लिए राशि अनुसार इनकी व्यक्तिगत खूबियां बड़ा कारण होती हैं।

 मिथुन और कुंभ

मिथुन राशि वाले जहां बेहद चंचल प्रकृति के होते हैं, कुंभ राशि के जातकों में उतना ही ठहराव होता है। हालांकि उनमें चीजों को लेकर नजरिया बहुत अलग हो सकता है, बावजूद इसके ये एक-दूसरे पर निर्भर रहते हैं और एक-दूसरे की जरूरतें पूरी करते हैं।

 वृष और कन्या

ये दो राशियां ऐसी हैं जो एक-दूसरे के लिए पूरक होती हैं। यह इतना अधिक होता है कि गलत नहीं होगा अगर कहें ‘इनकी जोड़ी स्वर्ग में बनकर आती है’। ये ना सिर्फ एक-दूसरे के प्रति गहरा आकर्षण रखते हैं बल्कि एक-दूसरे की भावनाओं का भी बहुत खयाल रखते हैं। ज्योतिष शास्त्र की मानें तो व्यक्तिगत जीवन में यह एकमात्र जोड़ी है जो सपनों की दुनिया में ना जीकर पूरी तरह व्यावहारिकता के साथ एक-दूसरे का साथ निभाती है।

वृष और कन्या

वृष राशि के जातक सोच में बेहद परिपक्व होते हैं, उन्हें पता होता है कि क्या करना है और किस दिशा में जाना है। इसके साथ ही किसी भी चीज को लेकर इनकी पसंद बेहद उम्दा होती है। वृष वालों की यही खूबी कन्या राशि को बहुत भाती है। यही वजह है कि ये एक-दूसरे के प्रति कभी खत्म ना होने वाला आकर्षण रखते हैं। इनकी जोड़ी इतनी परफेक्ट होती है कि सामने वाले को इनके रिश्तों में कमियां ढूंढना मुश्किल है और हर परिस्थिति में ये एक-दूसरे का साथ निभाते हैं।

तुला और कर्क

ये एक दूसरे के लिए कुछ ऐसे होते हैं जैसे एक-दूसरे की पहेली का जबाव। जब भी ये साथ होते हैं दुनिया से पूरी तरह बेखबर होते हैं। ये दोनों ही राशियां ऐसी होती हैं जो अपने पार्टनर को खुद से बेहतर देखना चाहती हैं, यही वजह है कि जब ये मिलते हैं तो इनकी जोड़ी कुछ ऐसी होती है जैसे सीप में मोती, जिनका एक-दूसरे के बिना कोई अस्तित्व नहीं है।

तुला और कर्क

अगर ये जातक एक-दूसरे के प्यार में पड़ जाएं तो रिश्ते को आगे बढ़ाने में बिल्कुल वक्त नहीं लगाते हैं और बहुत जल्दी शादी के मुकाम तक पहुंच जाते हैं। कर्क राशि वाले लाइफ में जल्दी से जल्दी सेटल होना चाहते हैं, इसलिए भी कई बार इनकी जोड़ी शादी के बंधन में जल्दी बंध जाती है। हालांकि जल्दी शादी करना इनके रिश्ते को मजबूत ही करता है।

Share This Post

Lost Password

Register