Loading...
दुनिया / मुख्य खबर

फेसबुक डाटा लीक मामले पर इजरायल ने शुरू की जांच

फेसबुक डाटा लीक मामले पर इजरायल ने शुरू की जांच

फेसबुक यूजर्स का डाटा लीक करने के मामले को इजरायल ने गंभीरता से लिया है और इस मामले की जांच शुरू कर दी है। इजरायल के न्याय मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी। मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया कि ब्रिटेन की कंसल्टिंग कंपनी कैम्ब्रिज एनालिटिका द्वारा पांच करोड़ फेसबुक यूजर्स का डाटा चोरी करने के मामले में जांच शुरू कर दी गई है।

न्याय मंत्रालय के मुताबिक, फेसबुक को इस जांच की जानकारी दे दी गई है। इजरायल के निजता सुरक्षा प्राधिकरण ने गुरुवार को फेसबुक को ये सूचित किया कि डाटा लीक मामले की जांच शुरू कर दी गई है। इजरायल के निजता कानून के तहत जिन उद्देश्यों के लिए डाटा दिया गया है, उसी काम के लिए उसका इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि इसके लिए उस शख्स की सहमति का होना बेहद जरूरी है, जिसका फेसबुक अकाउंट है।

क्या है मामला 

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के दौरान कैम्ब्रिज एनालिटिका नाम की एक फर्म पर 5 करोड़ फेसबुक यूजर्स की निजी जानकारियों को चुराने का आरोप लगा है। ये फर्म चुनाव के दौरान डोनाल्ड ट्रंप की मदद कर रही थी। आरोप है कि कैम्ब्रिज एनालिटिका ने यूजर्स की निजी जानकारियों को चुराकर डोनाल्ड ट्रंप की जीत में सहयोग किया था। साथ ही फर्म ने ट्रंप के विरोधियों की इमेज को भी खराब किया था।

जुकरबर्ग ने मानी गलती

इस मामले में फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने अपनी गलती स्वीकार की है। उन्होंने फेसबुक पर इस मुद्दे को लेकर एक लंबा-चौड़ा पोस्ट लिखा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि उनकी कंपनी पहले भी डाटा लीक मामले को लेकर कई कदम उठा चुकी है और आगे भी इस महत्वपूर्ण मुद्दे को हल करने के लिए जरूरी कदम उठाया जाएगा।

उन्होंने लिखा है “यूजर्स के डाटा की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी हमारी है और अगर हम ऐसा नहीं कर सकते हैं तो हम आपकी सेवा के लायक नहीं हैं। हमने डाटा लीक मामले को रोकने के लिए पहले भी कई कदम उठाए थे, हालांकि इस बीच हमसे कई गलतियां भी हुईं, लेकिन उन गलतियों को सुधारने के लिए जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं”।

भारत सरकार भी गंभीर 

इस मामले को भारत सरकार ने भी गंभीरता से लिया है। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कड़े शब्दों में कहा है कि अगर फेसबुक पर भारतीयों का डाटा लीक करने का मामला सामने आता है तो हम उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे। साथ ही इस मामले में फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग को समन भी भेजा जा सकता है।

Lost Password

Register