धार्मिक

बारिश को मात दे महारुद्राभिषेक में पहुंचे शिवभक्त

बारिश को मात दे महारुद्राभिषेक में पहुंचे शिवभक्त

धर्म के समाचार / News of religion

 

महारुद्रभिषेक के दूसरे दिन शिव ताण्डव और राधा-कृष्ण नृत्य ने किया भक्तिभाव से सराबोर, शिवालय में बही भक्ति की धारा

 

महाकालेश्वर सेवा समिति और Massiar Infra Pvt Ltd एवं www.mnewsindia.com के संयुक्त तत्वाधान में गोमती नगर के विरामखण्ड-तीन में स्थित महाकालेश्वर मंदिर में दो दिवसीय पार्थिव द्वादश ज्योतिर्लिंग महारुद्रभिषेक के दूसरे दिन भी बारिश भक्तों को नही रोक पायी और सैकड़ों की संख्या में शिवभक्तों ने महाकाल का पूजन-अर्चन कर प्रसाद ग्रहण किया। कार्यक्रम के दूसरे दिन शुक्रवार को महारुद्राभिषेक,कालसर्प दोष निवारण यज्ञ एवं शिव पार्वती श्रृंगार के साथ ही भगवान शिव की भव्य शोभायात्रा का शुभ आयोजन किया गया,कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण शिव ताण्डव व राधाकृष्ण नृत्य रहा जिसने पण्डाल में मौजूद हर किसी को झूमने पर मजबूर कर दिया।

 

 

कार्यक्रम में शिव भक्तों की भीड़ सुबह से ही इकट्ठी होनी शुरू हो गई थी।  महाकालेश्वर समिति के प्रभारी व यज्ञाचार्य पंडित कृष्ण मुरारी शास्त्री ने कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि भगवान भोले शंकर को अत्यंत प्रिय सावन माह में रुद्राभिषेक कराना अत्यंत पुण्यदायक एवं कल्याणकारी माना गया है, इसी लिए राष्ट्र एवं समस्त जगत के कल्याण के लिए इस पवित्र मास में महा रुद्राभिषेक का आयोजन किया गया है।

 

ये भी पढ़ें:  महारूद्रभिषेक में पहले ही दिन बड़ी संख्या में उमड़े शिवभक्त

 

उन्होंने कहा सम्पूर्ण ‘द्वादश ज्योतिर्लिंगों’ का पूर्ण वैदिक, शास्त्रीय विधि से कराया जाने वाला दिव्य अभिषेक सभी शिवभक्तों के लिए जीवन का एक अविस्मरणीय अवसर है। इस शुभ आयोजन के बारे में यज्ञाचार्य डा. अमित द्विवेदी ने बताया कि इस दिव्य रुद्राभिषेक के पुण्य से सभी संकटो का नाश हो जाता है।

दो दिवसीय कार्यक्रम के दूसरे दिन की शुरुआत शुक्रवार को सुबह 11 बजे हुई इसमें राजधानी व आस पास के जिलों से सैकड़ों संख्या में शिवभक्तों ने आयोजित महारुद्राभिषेक में विधि विधान से भगवान शिव का पूजन कर आशीर्वाद प्राप्त किया,इसमें प्रकांड आचार्यों यज्ञाचार्य पंडित कृष्ण मुरारी शास्त्री व यज्ञाचार्य डा. अमित द्विवेदी के दिशा निर्देशन में पूर्ण शास्त्रीय विधि से महारुद्राभिषेक की शुरुआत हुई।

इंडिया एवं मस्सायर इनफ्रा प्रा. लि. के चेयरमैन रतन चन्द्र द्विवेदी ने भी इस अवसर पर परिवार के साथ महाकाल का रुद्राभिषेक किया। उन्होने बताया कि सफल आयोजन के लिए श्री महाकाल सेवा समिति एवं आयोजन समिति के समस्त सदस्य बधाई के पात्र है क्योकि ऐसी बारिश में कार्यक्रम एक चुनौती था पर भक्तों के उत्साह ने उसे भी पराजित कर दिया।

 

ये भी पढ़ें:  आईएएस कोचिंग में युगऋषि सम्पूर्ण वाङ्मय साहित्य की स्थापना

 

श्री आयोजन के बारे में शास्त्री जी ने बताया कि यहां पर आने वाले भक्तों को समस्त पूजन सामग्री आयोज​कों की ओर से उपलब्ध करायी गयी। उन्होने बताया कि कार्यक्रम में बड़ी संख्या में जानी-मानी हस्तियों ने भी उपस्थिति दर्ज करायी। शुक्रवार देर शाम महारुद्राभिषेक के बाद आयोजित किये गये शिव ताण्डव व राधाकृष्ण नृत्य ने पण्डाल में मौजूद सभी भक्तो का मन मोह लिया और उन्हे झूमने को विवश कर दिया। इसके बाद भगवान शिव की भव्य शोभायात्रा व विशाल भण्डारा आयोजित किया गया जिसमें बड़ी संख्या में भक्तों ने प्रसाद ग्रहण किया। कार्यक्रम के दूसरे दिन भारत रत्न व पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई को वैदिक मंत्रोच्चरण के बीच भावभीनी श्रद्वांजलि दी गयी ।

Massiar Group के चेयरमैन रतन चंद  द्विवेदी ने बताया की सावन माह में इस शुभ अवसर पर आयोजकों की तरफ से इस अभिषेक में आयी हुई सभी महिलाओं के लिए नि:शुक्ल मेहन्दी लगवाने का भी विशेष प्रबंध किया गया था जिसमें बहुत बड़ी संख्या में महिलाओं ने अपनी उपस्थिति दर्ज करायी।  

 

ये भी पढ़ें:   अगर सत्ता मिली तो विकसित ​करूंगा भगवान विष्णु का नगर

 

शास्त्री जी ने कहा कि इस आयोजन को सफल बनाने में  Massiar Infra Pvt Ltd,  www.mnewsindia.com एवं www.memorymuseum.net साईट  तथा बड़ी संख्या में क्षेत्रीय लोगों ने सराहनीय योगदान दिया।

Lost Password

Register