Loading...
खेल

बिना फाइनल खेले सुशील ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया

बिना फाइनल खेले सुशील ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया

 

 

दिग्गज पहलवान सुशील कुमार ने राष्ट्रीय कुश्ती चैम्पियनशिप के पुरुषों के 74 किलोग्राम फ्रीस्टाइल प्रतियोगिता में क्वार्टर फाइनल, सेमीफाइनल और फाइनल मुकाबले खेले बिना ही स्वर्ण पदक अपने नाम किया। उन्हें क्वार्टर फाइनल की तरह सेमीफाइनल और फिर फाइनल में भी वॉकओवर मिल गया। सुशील ने अपने चिर-परिचित अंदाज में शुरुआती दो दौर में अपने प्रतिद्वंदियों को दो मिनट से कम समय में मात दी लेकिन उन्हें क्वार्टर फाइनल और सेमीफाइनल में कोई चुनौती नहीं मिली।  दोनों मुकाबलों में उन्हें वॉकओवर मिला।

वहीं महिला कुश्ती में देश की इकलौती ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक और दंगल गर्ल गीता फोगाट भी प्रतियोगिता के दूसरे दिन अपनी श्रेणियों में विजेता बनीं। ओलंपिक में दो पदक विजेता और तीन साल के बाद वापसी करने वाले सुशील ने अपने चिर-परिचित अंदाज में शुरुआती दो दौर में अपने प्रतिद्वंद्वियों को मात दी, सुशील ने पहले दौर में मिजोरम के लालमलस्वामा को महज 48 सेकेन्ड और दूसरे दौर में मुकुल मिश्रा को महज 45 सेकेन्ड में चित कर दिया।

क्वार्टर फाइनल में उन्हें प्रवीण ने वॉकओवर दिया तो वही सेमीफाइनल में सचिन दहिया उनके खिलाफ मैदान में नहीं उतरे। इस तरह उन्हें क्वार्टर फाइनल, सेमीफाइनल और फाइनल में कोई चुनौती नहीं मिली। तीनों ही मुकाबलों में उन्हें वॉकओवर मिला। इस प्रतियोगिता में उन्हें महज एक मिनट 33 सेकंड की कुश्ती लड़नी पड़ी।

फाइनल में सुशील का मुकाबला प्रवीण राणा से था, लेकिन चोटिल होने के कारण वो भी मुकाबले में नहीं उतरे। इसके साथ ही गीता ने 59 किलो वर्ग के फाइनल में रविता को पटखनी दी। साक्षी ने 62 किलो वर्ग में अपनी प्रतिद्वंद्वी हरियाणा की पूजा को एकतरफ मुकाबले में 10-0 से मात दी। गीता के पति पवन कुमार भी 86 किलो वर्ग में शीर्ष पर रहे। इस तरह सुशील ने राष्ट्रीय कुश्ती चैम्पियनशिप के पुरुषों के 74 किलोग्राम फ्रीस्टाइल प्रतियोगिता में नेशनल रेसलिंग में 1 मिनट 33 सेकंड की कुश्ती लड़कर गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया।

 

 

[घर बैठे रोज़गार पाने के लिए Like करें हमारा Facebook Page और मेसेज करें JOB]

Lost Password

Register