Loading...
देश

बिहार में पटाखा फैक्ट्री विस्फोट में 5 की मौत, 25 घायल

बिहार में पटाखा फैक्ट्री विस्फोट में 5 की मौत, 25 घायल

बिहार में नालंदा जिले के सोहरसराय थाना क्षेत्र की एक अवैध पटाखा फैक्टरी में विस्फोट हो गया है। इस विस्फोट में 5 लोगों के मरने की खबर सामने आ रही है। जिसमें 25 लोग आग के झुलसने से घायल हो गए हैं जिनमें चार लोगों की हालत को काफी गंभीर बताया जा रहा है। विस्फोट में मारे गए लोगों में तीन बच्चे और एक महिला भी शामिल है।

इस दर्दनाक दुर्घटना के बाद सोहरसराय के थाना प्रभारी को कर्तव्यहीनता का आरोप लगाते हुए निलंबित कर दिया है, वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस घटना पर दुःख जताया है और इस पूरे मामले की जल्द से जल्द जांच करने का आदेश दे दिया है।

स्थानीय पुलिस ने बताया है कि, खासगंज ऐरिया में एक घर के अंदर अवैध पटाखा फैक्टरी चलाई जा रही थी जिसमें अचानक विस्फोच हो गया, जिससे पड़ोस के कई घर इसकी चपेट में आ गए। इस देर रात हुई घटना में 5 लोगों की मौत के साथ 25 के गंभीर रूप से घायल होने की खबर सामने आ रही है। इस घटना में अवैध तरीके से चला रहा पटाखे फैक्टरी का मालिक मोहम्मद सरफराज भी बुरी तरह झुलस गया है।

आपको बता दें कि,इससे पहले भी 20 जनवरी को बवाना इंडस्ट्रियल एरिया में स्थिति अवैध पटाखा फैक्टरी में आग लग गई थी। जिसमें 17 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं कई घायल हो गए थे। पुलिस ने इस हादसे में फैक्ट्री मालिक मनोज जैन और ललित गोयल को आरोपी बनाते हुए मामले की जांच शुरू की थी। जिसमें कई चौंकाने वाली जानकारी सामने आई थी।

मीडिया खबरों के अनुसार, पुलिस ने बवाना पटाखा फैक्ट्री अंग्निकांड मामले के आरोपी मनोज जैन और ललित गोयल को बुधवार को रोहिणी कोर्ट में पेश किया था। जहां से कोर्ट ने दोनों आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। इससे पहले फैक्ट्री में आग लगने की घटना के बाद पुलिस ने फैक्ट्री मालिक मनोज जैन को गिरफ्तार कर लिया था। जबकि ललित गोयल फरार चल रहा था। जिसको 27 जनवरी को गिरफ्तार कर लिया गया था। पुलिस ने दोनों आरोपी को अलग-अलग समय में कोर्ट में पेश कर रिमांड की मांग की थी। आरोपी मनोज जैन को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया था। जहां कोर्ट ने पुलिस की मांग को मंजूर करते हुए पांच दिन की रिमांड पर भेज दिया था। पांच दिन की रिमांड के बाद सोमवार को पुलिस ने मनोज जैन को कोर्ट में पेश किया था। पुलिस ने कोर्ट से जांच पूरी नहीं होने को लेकर फिर से आरोपी की दो दिन की रिमांड की मांग की थी। कोर्ट ने आरोपी मनोज जैन को दो दिन की रिमांड पर भेज दिया था।

Lost Password

Register