दुनिया

ब्रिटिश हाई कोर्ट ने विजय माल्या पर लगाया 1.82 करोड़ का जुर्माना

ब्रिटिश हाई कोर्ट ने विजय माल्या पर लगाया 1.82 करोड़ का जुर्माना

भगौड़े शराब व्यापारी विजय माल्या पर शिकंजा कसता जा रहा है। ब्रिटिश हाई कोर्ट से विजय माल्या को बड़ा झटका लगा है। ब्रिटिश कोर्ट ने भारतीय बैंको को कानूनी लड़ाई के हर्जाने के तौर पर दो लाख पाउंड देने का निर्देश दिया है। दरअसल,13 बैंकों ने विजय माल्या के खिलाफ कर्ज की वसूली के लिए कानूनी कार्रवाई की है। माल्या इन दिनों ब्रिटेन में रह रहा है और वहीं से भारतीय एंजेसीयों से अपनी कानूनी लड़ाई लड़ रहा है। माल्या पर आरोप है कि वह 13 भारतीय बैंको के 9 हजार करोड़ लेकर फरार है।

आपको बता दें कि  विजय माल्या केस की सुनवाई कर रहे हाई कोर्ट जज एंड्रयू हेनशॉ ने पिछले महीनें मई में माल्या की मौजूद अन्य देशों में संपत्तियों को जब्त करने का आदेश देने से इन्कार कर दिया था। भारतीय स्टेट बैंक के नेतृत्व वाले 13 भारतीय बैंकों के संघ ने इस जब्ती के जरिये कर्ज दी गई अपनी रकम की वसूली का रास्ता सुझाया था, लेकिन हाई कोर्ट ने इस सुझाव को मानने से इंकार कर दिया। जिसके बाद हाई कोर्ट ने एक अन्य आदेश में माल्या के लिए इस फैलसे को सुनाया।

जानकारी के लिए बता दूं कि माल्या पर बैंकों के नौ हजार करोड़ रुपये लेकर भागने के अलावा भारत वापस भेजने का भी एक मुकदमा अलग से चल रहा है। माल्या पर इस मुकदमे में घोटाला करने के साथ ही गलत ढंग से धन भारत के बाहर ले जाने के मामले हैं। इस मामले की अब अंतिम सुनवाई लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट में जुलाई में होने की उम्मीद है।

आपको बता दें कि पिछले साल पटियाला हाउस कोर्ट ने विजय माल्या को भगोड़ा घोषित कर दिया था। कोर्ट ने फॉरेन एक्सचेंज रेग्युलेशन ऐक्ट (फेरा) कानून के उल्लंघन के मामले में माल्या को कई बार हाजिर होने के लिए समन जारी किए थे, लेकिन माल्या कोर्ट में पेश नहीं हुए थे। जिसके बाद कोर्ट ने माल्या को भगोड़ा घोषित कर दिया था।

पिछले साल ही विजय माल्या ने कोर्ट में एक याचिका दायर की थी, जिसमें कहा था कि वो भारत लौटना चाहते हैं, लेकिन उनका पासपोर्ट रद्द हो जाने की वजह से वो स्वदेश नहीं लौट सकते हैं। कोर्ट ने माल्या की इस याचिका को कानून का दुरुपयोग माना था। इसके साथ ही कोर्ट ने माल्या को पेशी में दी गई छूट को खत्म कर दिया था। कोर्ट ने माल्या को ईडी के सामने पेश होने का भी आदेश जारी किया था।

Lost Password

Register