Loading...
देश / मुख्य खबर

मुंबई 26/11 हमले का मास्टरमाइंड रहमान लखवी जमानत पर आया बाहर

मुंबई 26/11 हमले का मास्टरमाइंड रहमान लखवी जमानत पर आया बाहर

26 नवंबर को मुंबई में हुए अटैक ने पूरे देश को ही क्या दुनिया को हिला कर रख दिया था। इस अटैक का मास्टरमाइंड और लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर जकीउर रहमान लखवी है जिसको साल 2015 में लाहौर के हाई कोर्ट से जमानत मिल गई थी। जमानत हो जाने के तीन साल के बाद फिरसे इसके बारे में जानकी मिली है। इन दिनों यह आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने लिए पाकिस्तान के पंजाब में रहकर किसानों से चंदा एकत्रित कर रहा है। भारत की एजेंसीयों ने अपनी खुफिया जानकारियों से बताया है कि, आतंकी रहमान लखवी रावलपिंडी के अडियाला जेल अप्रैल 2015 में रिहा हुआ था। जिसके बाद वह लोगों की नजरों से दूर रहा लेकिन वह आतंकी संगठन का नेतृत्व करता रहा।

आपको बता दें कि, लश्कर-ए-तैयबा अगल-अगल कार्यक्रमों के द्वारा पैसा जुटाता है। इसके ऊपर फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स (FATF) की तलवार लटकी हुई है इसके बाद भी इसको दान देने वालों की सूची में नए नाम जुड़े हैं।

FATF ने इस साल फरवरी में कहा था कि, अगर वह आतंकी संगठनों पर लगाम लगाने में नामाक रहा तो वह जून में पाकिस्तान को वाच लिस्ट या फिर ग्रे लिस्ट में डाल देगा।

क्या था पूरा मामला

26/11 साल 2008 के इस हमले में करीब 170 लोगों की जान चली गई थी। होटल ताज को भी हमलावरों ने नुकसान पहुंचाया था। इस दिन मुंबई में जगह-जगह शहीदों को याद करने वाले पोस्टर लगाये जाते हैं।

आतंकियों ने 2008 में 26 नवंबर के दिन मुंबई को करीब 60 घंटों तक बंधक बनाकर रखा था। ये खौफनाक मंजर आज भी लोगों के जेहन में है।

26 नवंबर 2008 को समुद्र के रास्ते से पाकिस्तानी आतंकी आये थे और उन्होंने देश की आर्थिक राजधानी को करीब 60 घंटे तक बंधक बनाकर रखा था। होटल ताज से लेकर सीएसटी स्टेशन तक, आतंक की कहानियां आज भी बिखरी पड़ी हैं। इतने बड़े हमले में पाकिस्तान का पूरा सहयोग था और इस हादसे को अंजाम देने वाले मास्टरमाइंड आतंक के आका हाफिज सईद और जकी-उर रहमान लखवी जैसे हैं।

Lost Password

Register