Loading...
खेल

मैरी कॉम पांचवीं बार बनीं एशियन चैंपियन,जीता ‘गोल्ड’

मैरी कॉम पांचवीं बार बनीं एशियन चैंपियन,जीता ‘गोल्ड’

भारत की स्टार बॉक्सर और पांच बार की वर्ल्ड चैंपियन एससी मैरी कॉम ने एशियाई चैंपियनशिप गोल्ड पदक जीतकर इतिहास रच दिया। मैरी कॉम ने बुधवार को खेले गए 48 किलो लाइट फ्लाइवेट वर्ग के फाइनल में उत्तर कोरिया की किम हयांग मी को 5-0 से एकतरफा अंदाज में मात दी।

आपको बता दें कि मैरी कॉम ने सेमीफाइनल में जापान की सुबासा कोमुरा को हराकर फाइनल में जगह बनाई थी। उन्होंने कोमुरा को भी 5-0 से शिकस्त दी थी। मैरी कॉम ने करीब एक साल बाद रिंग में वापसी की है। 2014 एशियाई खेलों के बाद मैरी कॉम का यह पहला गोल्ड मेडल है।

मैरी कॉम ने मुकाबले में शुरू से ही आक्रामक खेल दिखाया। मैच के पहले तीन मिनट दोनों खिलाड़ियों को एक दूसरे की ताकत को आंकने में लग गए। मैरी कॉम ने अपने विपक्षी के हर वार का सटीक जवाब दिया। मैरी कॉम उत्तर कोरियन प्रतिद्वंदी किम हयांग मी के किसी भी पंच से  विचलित नहीं हुई। उन्होंने पूरे मुकाबले में धैर्य का परिचय देते हुए किम हयांग मी को हरा दिया। पूरे मुकाबले में मैरी कॉम उत्तर कोरियन खिलाड़ी पर भारी पड़ती रहीं । उन्होंने अपने अनुभव का शानादर इस्तेमाल करते हुए एकतरफा जीत हासिल कर ली। इसके साथ ही उन्होंने एक बार फिर एशियाई गोल्ड मेडल को वापस देश में लाने का सपना पूरा कर लिया।

मैरी कॉम का पांचवां गोल्ड मेडल

ओलंपिक पदक विजेता मैरी कॉम का एशियन चैंपियनशिप में यह पांचवां गोल्ड मेडल है। इससे पहले उन्होंने2003, 2005, 2010 और 2012 में स्वर्ण पदक जीते थे। वहीं 2008 में उन्हें सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा था। आपको बता दें कि 35 साल की मैरी कॉम इससे पहले 5 साल तक 51 किलो वर्ग में हिस्सा लेती रहीं। अब वह 48 किलो वर्ग में वापस लौटी हैं।  मैरी कॉम राज्यसभा सांसद है और वह तीन बच्चों की मां है।

 

 

 

[घर बैठे रोज़गार पाने के लिए Like करें हमारा Facebook Page और मेसेज करें JOB]

Lost Password

Register