Loading...
अजब-गजब

ये है मौत का आइलैंड, यहां जाने वाले नहीं आ पाते हैं वापस

ये है मौत का आइलैंड, यहां जाने वाले नहीं आ पाते हैं वापस

दुनिया में आपने बहुत सी खतरनाक जगहों के बारे में सुना होगा, लेकिन आज हम आपको जिस जगह के बारे में बता रहे हैं वो इतनी ज्यादा खतरनाक है कि आप उसके बारे में जानकर ही डरना शुरू कर देंगे। जी हां इटली के इस आइलैंड को ‘आइलैंड ऑफ डेड’ के नाम से भी जाना जाता है। बताया जाता है कि वहां जाने वाले लोगों का जिंदा बचकर लौट पाना मुश्किल है। वहां लोग जाने से भी डरते हैं, कहा जाता है कि सैकड़ों साल पहले इस आइलैंड पर प्लेग के मरीजों को मरने के लिए छोड़ दिया जाता था। काफी समय तक इस आइलैंड का इस्तेमाल ऐसे ही होता रहा था, जिसकी वजह से ये दुनिया में सबसे ज्यादा खतरनाक है।

वहां मरने वाले लोगों को, वहीं पर दफना दिया जाता था। एक बार तो ऐसा हुआ कि वहां मरीजों की संख्या लगभग 1 लाख 60 हजार हो गई, जिनकों जिंदा जला दिया गया था। इसके बाद ये आइलैंड पूरी तरह से वीरान हो गया। 1922 में इस आइलैंड पर मेंटल हॉस्पिटल बनाया गया, लेकिन वहां डॉक्टर्स और नर्सों को कई असामान्य चीजें नजर आने लगी थीं। और मेंटल हॉस्पिटल में मरीजों को भूत दिखाई देने लगे, जिसके बाद हॉस्पिटल को बंद कर दिया गया। उत्तरी इटली की वेनेटियन लगून्स में स्थित इस आइलैंड को बाद में इटली सरकार ने 1960 में इसे एक शख्स को बेच दिया। वह शख्स अपने परिवार के साथ कुछ ही दिन वहां रहा और फिर उस जगह को छोड़ गया। उसके बाद एक दूसरे परिवार ने इसे खरीदा, लेकिन वह भी सिर्फ 1 दिन रुक पाए।

कई लोगों ने इस तरह की घटनाओं के बारे में जानने की बहुत कोशिशें की, लेकिन जो भी वहां गया वो वापिस नहीं आ पाया। और ये आइलैंड हमेशा के लिए वीरान हो गया। जो लोग बचकर वापस आए, उनका कहना था कि यहां पर प्लेग की बीमारी से मरे हुए लोगों की आत्माएं भटकती हैं। एक शख्स ने बताया कि किसी ने तुरंत इस आइलैंड को छोड़ने के लिए कहा। जिस वजह से इस भूतिया आइलैंड का रहस्य आज भी राज है। इस आइलैंड पर जाने में प्रतिबंध लगा हुआ है।

 

 

 

[घर बैठे रोज़गार पाने के लिए Like करें हमारा Facebook Page और मेसेज करें JOB]

Lost Password

Register