आस्था

राशि अनुसार जानें जीवन में कितनी बार हो सकता है आपको प्यार

राशि अनुसार जानें जीवन में कितनी बार हो सकता है आपको प्यार

कितने बार किया है आपने प्रेम

सामान्यतौर पर यह माना जाता है एक औसत मनुष्य अपने जीवन में करीब 4 बार किसी के प्यार में पड़ता है और उसे हर बार यही लगता है कि ये उसका सोलमेट है। लेकिन यकीन मानिए उसके जीवन में आने वाला हर प्रेमी एक खास और जरूरी सीख उसे जरूर देकर जाता है।

राशि अनुसार जानें

हमने औसत के आधार पर आपको लोगों के प्रेम में पड़ने की बात आपको बताई है, अब अगर आपको विशिष्ट तौर पर जानना है कि कौन कितनी बार प्रेम में पड़ता है या किसको कितनी बार अपने जीवन में प्रेम होता है तो यह राशि अनुसार जाना जा सकता है। तो चलिए राशि अनुसार जानते हैं कि किस राशि के जातक को जीवन में कितनी बार प्रेम होता है।

मेष राशि

अगर आप मेष राशि से ताल्लुक रखते हैं तो आप स्वयं ये बात जानते होंगे कि आपको ना तो प्रेम में पड़ने में कोई हिचकिचाहट होती है और ना ही स्वयं जाकर किसी को प्रपोज करने में। आपके जीवन में प्रेम सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है, चाहे वो परिवार के लिए या दोस्तों के लिए।

आत्मिक प्रेम

आपके लिए प्रेम का अर्थ केवल शारीरिक से ही नहीं है, बल्कि आप आत्माओं के मिलन की बात पर यकीन करते हैं। इसलिए आप बहुत जल्दी किसी से प्रेम नहीं कर बैठते और ना ही ज्यादा बार प्रेम करते हैं।

वृषभ राशि

वृषभ राशि और मेष राशि के जातकों में एक समानता है कि ये दोनों ही प्रेम में विश्वास करते हैं, अंतर बस इतना है कि मेष राशि के जातक जहां प्रेम में पड़ने में अपना समय लेते हैं, बहुत जल्दी किसी को अपना दिल नहीं दे बैठते, वहीं वृषभ राशि के जातकों को हर दिन प्रेम होता है।

चालाक प्रेमी

हां, इस मामले में आप बहुत चालाक हैं, आप अपनी भावनाओं की गंभीरता को स्वयं बहुत अच्छे से समझते हैं। पूरे जीवन में आपको दो बार प्रेम होने की संभावनाएं प्रबल हैं, एक युवावस्था में और दूसरा जब आप वयस्क हो जाते हैं।

मिथुन राशि

मिथुन राशि के जातक उस बच्चे की तरह हैं जो एक खिलौने की दुकान में प्रवेश करने के बाद यह निर्णय नहीं ले पाता कि उसे कौनसा खिलौना ज्यादा पसंद है, उन्हें सबकुछ पसंद आता है और वो भी बड़ी आसानी से। आप उन लोगों में से हैं जो बहुत ही जल्दी और जीवन में बहुत बार प्रेम करते हैं। यह कहना कदापि गलत नहीं है, कि इन्हें जीवन में 4 बार तो कम से कम प्रेम कर ही बैठते हैं।

कर्क राशि

आप उन लोगों में से हैं जो अपने परफेक्ट लव को लेकर दिन में भी सपने देखते हैं। आप अपने प्रेमी से बहुत काल्पनिक और यकीनन बहुत ज्यादा अपेक्षाएं रखते हैं। आगे चलकर आपकी अपेक्षाएं ही आपके दुख का कारण भी बनती हैं। आपको जीवन में एक बार दिल टूटने का शिकार होना पड़ता है, इसका अर्थ यह कदापि नहीं कि सेकेंड टाइम आप लकी नहीं हो सकते। आपको अपने आप को दूसरा और आखिरी ट्राइ अवश्य देना चाहिए।

सिंह राशि

आपको प्रेम में विश्वास तो है लेकिन आप चाहते हैं कि आप इस दुनिया से अलग-अलग अनुभव प्राप्त करें। यही वजह है कि अपने जीवनकाल में आप अलग-अलग लोगों के संपर्क में आते हैं और आपके बहुत से प्रेम संबंध बनते हैं। हो सकता है युवावस्था में आपके जीवन में एक बार प्रेम आया हो लेकिन वह संबंध सफल ना हो पाने की वजह से, आगामी जीवन में आप प्रेम तो करते हैं लेकिन बहुत सोच-समझकर।

कन्या राशि

कन्या राशि के जातक दूसरों से ज्यादा खुद से प्रेम करते हैं, लेकिन इसका अर्थ यह कदापि नहीं कि उन्हें कभी प्रेम नहीं होता या वो किसी से प्रेम नहीं करते। बल्कि वह अपने पूरे जीवनकाल में केवल एक ही व्यक्ति से प्रेम करते हैं और वो भी दो कारणों से। पहला कारण, जिससे वो प्रेम करते हैं क्या वो उस प्रेम के लायक है और दूसरा कारण यह कि उनका प्रेमी कभी उनकी महत्वकांक्षाओं के बीच ना आए।

तुला राशि

आपके लिए प्रेम किसी सीख या पाठ से कम नहीं है, आप जल्दी-जल्दी जीते हैं और अपने संबंध को अपना 100 प्रतिशत देने की कोशिश करते हैं। लेकिन समय के साथ-साथ आप स्वयं को उतना सम्मान देना सीख जाते हैं। अपने पूरे जीवनकाल में आप 3 बार प्रेम में पड़ते हैं और तीनों ही बार आपको कुछ ना कुछ नया सीखने को मिलता है।

वृश्चिक राशि

आपके अंदर भरपूर प्रेम मौजूद है, लेकिन प्रेम को लेकर आप थोड़े स्वार्थी माने जा सकते हैं। आपके जीवन में आने वाले दो प्रेम संबंध बहुत बुरी तरह से समाप्त हुए हैं या हो सकते हैं, लेकिन इसका अर्थ यह कदापि नहीं कि आप तीसरी बार कोशिश ना करें। तीसरी बार आपको थोड़ा प्रैक्टिकल होकर ही चलना होगा।

धनु राशि

आपको भी प्रेम में पड़ना बहुत अच्छा लगता है, इस वजह से अपने जीवनकाल में कम से कम 4 बार तो आप प्रेम कर ही बैठते हैं। शुरुआत में आपको सब अच्छा लगता है लेकिन जैसे-जैसे संबंध में गंभीरता आने लगती है आप पीछे हट जाते हैं। कोई बात नहीं, आपको वो इंसान अवश्य मिलेगा जिसके साथ आप गंभीर होकर अपने रिश्ते को आगे बढ़ाएंगे।

मकर राशि

आप अपने व्यवसायिक जीवन में जितने ज्यादा महत्वकांक्षी हैं, उतने ही ज्यादा अपने प्रेम संबंध को लेकर भी हैं। अगर आपको कोई ऐसा व्यक्ति मिल जाए जिसके साथ आप अपना सारा जीवन व्यतीत कर सकते हैं तो आप उसके लिए कुछ भी कर गुजरेंगे। आप छोटी-छोटी चीजों को अपने संबंध के बीच नहीं आने देते।

कुंभ राशि

आजाद रहना है या प्रेम में पड़ना है….ये दो बातें हमेशा आपको कंफ्यूज करती हैं। आपके व्यक्तित्व के लिए ये दोनों ही अत्यंत आवश्यक है। समय के साथ-साथ आप इनमें से एक चीज को अपनी प्राथमिकता समझकर आगे बढ़ जाते हैं। आप अपने जीवन में कम से कम 2 बार तो प्रेम कर ही लेते हैं।

मीन राशि

भीतरी तौर पर आप परियों की कहानी पर विश्वास करते हैं और चाहते हैं कि आपका प्रेम संबंध भी कुछ ऐसा ही हो। लेकिन आपको डर लगता है कि कहीं आपकी ही वजह से आपका संबंध खराब ना हो जाए। आप अपने जीवन में एक ही बार प्रेम करते हैं और उसे ही फेयरी टेल की तरह डील करते हैं।

Share This Post

Lost Password

Register