Loading...
देश / मुख्य खबर

सीएम योगी ने किया 2019 में लगने वाले कुंभ के शाही स्नान की तिथियों का ऐलान

सीएम योगी ने किया 2019 में लगने वाले कुंभ के शाही स्नान की तिथियों का ऐलान

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने शनिवार के दिन अखाड़ा परिषद के पदाधिकारियों और साधु-संतों से विचार-विमर्श करने के बाद 2019 में लगने वाले कुंभ के शाही स्नान की तिथियों का ऐलान कर दिया है। परंपरा को तोड़ते हुए इस बार शाही तिथियों का ऐलान सीएम ने किया है इससे पहले शहरी विकास मंत्री द्वारा इसकी घोषणा की जाती थी। सीएम ने बताया कि कुंभ 2019 में सबसे बड़ा शाही स्नान मौनी अमावस्या 4 फरवरी को होगा। इस शाही स्नान के लिए 5 करोड़ से ज्यादा श्रद्धालुओं के आने की संभावना  है।

सीएम ने शाही स्नान की तिथियों के ऐलान से पहले मठ बाघम्बरी गद्दी में सभी तेरह अखाड़ों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की और उनके साथ भोजन किया। इस मौके पर योगी के साथ डेप्युटी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, शहरी विकास मंत्री सुरेश खन्ना और नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी भी मौजूद थे। इस दौरान सभी ने शाही तिथियों को लेकर भी विचार-विमर्श किया।

मौनी अमावस्या को सबसे बड़ा स्नान

कुंभ 2019 का सबसे बड़ा शाही स्नान 4 फरवरी को होगा। दूसरा शाही स्नान 15 जनवरी मकर संक्रांति को और तीसरा 10 फरवरी बसंत पंचमी के दिन होगा। इन तीन शाही स्नान के अलावा पौष पूर्णिमा 21 जनवरी को, 4 मार्च को महाशिवरात्रि को और 19 फरवरी के दिन माघी पूर्णिमा का स्नान होगा। कुंभ के मेले की शुरुआत 15 जनवरी को होगी और इसका समापन 4 मार्च के दिन होगा।

सीएम योगी आदित्य नाथ ने सर्किट हाउस में मंत्रियों, अधिकारियों और साधु-संतों से विचार-विमर्श करने के बाद शाही स्नान की तिथियों का ऐलान किया। इसके साथ ही सीएम ने कुंभ को सफल बनाने के लिए सभी सहयोग मांगा। उन्होंने कहा, ‘देश-दुनिया से करीब तेरह करोड़ श्रद्धालु कुंभ में आएंगे। हमें यह देखना होगा कि उन्हें किसी प्रकार की असुविधा न हो। इसके लिए हर नागरिक को सहयोग करना होगा। सिर्फ सरकार या प्रशासन के भरोसे यह नहीं हो सकेगा।’

कुंभ में शाही स्नान की तिथियों का ऐलान करने के बाद सीएम ने कहा, ‘कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को मेले के दौरान लगातार शुद्ध गंगाजल मिलेगा। 15 दिसम्बर 2018 से 15 मार्च 2019 के बीच गंगा-यमुना और उनकी सहायक नदियों में कोई कचरा नहीं प्रवाहित होगा।’ इसके साथ ही योगी ने कहा, कुंभ 2019 में 15 दिसम्बर से लेकर 15 मार्च तक के बीत 6 लाख गांव के लोग इसमें शामिल होंगे। वहीं इस उत्सव का आनंद लेने के लिए दुनियां के 192 देशों से लोग पहुंचेंगे।

 

Lost Password

Register