देश / मुख्य खबर

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मायावती ने खाली किया सरकारी आवास

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मायावती ने खाली किया सरकारी आवास

उत्तर प्रदेश की पूर्व सीएम मायावती ने 6 लाल बहादुर शास्त्री मार्ग पर स्थित अपने नाम आवंटित सरकारी बंगले को खाली कर दिया है। मायावती को सरकारी आवास खाली करने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था। मायावती ने दावा करते हुए कहा कि यह बंगला बतौर पूर्व सीएम उनके नाम आवंटित किया गया था। इसके साथ ही मायावती ने आरोप लगाया कि राज्य का संपत्ति विभाग उनसे बंगले की चाबी रिसीव नहीं कर रहा, जिसके बाद उन्होंने विभाग के लिए चाबी को स्पीड पोस्ट से भेजा है। इस बंगले को खाली करने के संबंध में मायावती ने 29 मई को राज्यपाल को पत्र के द्वारा सूचित कर दिया था।

आपको बता दें, यूपी की पूर्व सीएम मायावती के नाम पर 13ए माल एवेन्यू आवंटित है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए आदेश के बाद मायावती को उत्तर प्रदेश राज्य संपति विभाग ने 13ए माल एवेन्यू स्थित सरकारी आवास को खाली कराने का नोटिस भेजा था। वहीं मायावती ने सीएम को पत्र लिखकर अपने कार्यकाल के दौरान लिए गए कैबिनेट फैसलों का हवाला दिया था।

मायावती ने अपने पत्र में लिखा था कि, 13ए माल एवेन्यू कांशीराम यादगार विश्राम स्थल के नाम पर आवंटित है। वह उसके कुछ हिस्से की देख-भाल करने के लिए रहती हैं। अथार्थ उनको आवास खाली करने के लिए नोटिस सही नहीं है।

पूर्व सीएम ने निजी सचिव मेवालाल गौतम ने पीडब्लूडी के वीवीआईपी गेस्ट हाउस में तैनात जेई को पत्र लिखते हुए कहा कि, पूर्व सीएम मायावती ने कोर्ट द्वारा दिए गए आदेश का पालन करते हुए मंगलवार के दिन 6 एलबीएस मार्ग स्थित आवाल को खाली कर दिया है और इसकी सूचना राज्य संपत्ति विभाग को दे दी है।

मायावती के निजी सचिव ने बताया कि, मायावती लेटर को राज्य संपत्ति अधिकारी के कार्यालय ने लेने से मना कर दिया है और कब्जा संबंधित प्रखंड के जेई द्वारा लिए जाने की सूचना दी गई। जिसके बाद बुधवार दोपहर 12.30 बजे संबंधित प्रखंड के जेई से मिलने के लिए कहा गया। उन्होंने कहा, ‘इसके बाद मैं स्वयं आपके कार्यालय आया और आपसे कब्जा लेने का अनुरोध किया लेकिन आपने यह कहते हुए इंकार कर दिया कि जब तक राज्य संपत्ति अधिकारी आदेश नहीं देंगे आप पत्र की प्रति और कब्जा नहीं लेंगे।’

गौतम ने कहा, ‘चूंकि, राज्य संपत्ति विभाग कब्जा लेने से इंकार कर रहा है इसलिए स्पीड पोस्ट से आवास खाली करने संबंधी पत्र की प्रति और बंगले की चाबी का सेट भेज दिया गया है।’ इसके साथ ही मेवालाल गौतम ने पत्र में जानकारी दी है कि बुधवार के दिन भेजा गया स्पीड पोस्ट रिसीव कर लिया गया है। पत्र के साथ साक्ष्य के तौर पर 6, लाल बहादुर शास्त्री मार्ग के बिजली के बिल भी लगाए गए हैं।

Share This Post

Lost Password

Register