Loading...
आस्था

हथेली की इस रेखा से जानें पैसा और नाम मिलेगा या नहीं

हथेली की इस रेखा से जानें पैसा और नाम मिलेगा या नहीं

जब कोई अवसर हमारे हाथ से निकल जाता है तो हम कहते है कि “यह हमारे भाग्य में नहीं था” इसलिए यह नहीं हुआ और हम अपने भाग्य को कोसते हैं। भाग्य को दोष देने से पहले आप यह देखिये की आपकी हथेली में भाग्य रेखा क्या कह रही है।

हस्त रेखीय ज्योतिषशास्त्र में बताया गया है कि बनावट की दृष्टि से भाग्य रेखा लगभग सात प्रकार की होती है और उनका अलग अलग प्रभाव होता है। बनावट की दृष्टि से भाग्य रेखा के प्रकार क्रमश: इस प्रकार

गहरी रेखा (डीप फटे लाइन): हाथ में भाग्य रेखा गहरी है तो यह इस बात का संकेत है कि आपको अपने भाग्य की मदद से पैतृक सम्पत्ति और विभिन्न प्रकार के लाभ मिलेंगे। आपकी उन्नति में आपके बुजुर्गों का सहयोग रहेगा।

कमज़ोर रेखा (लाइट फटे लाइन) : भाग्य रेखा कमज़ोर होने से इस बात का संकेत मिलता है कि आपको जीवन में असफलताओं एवं मुश्किलों का सामना करना होगा। आपकी जिन्दग़ी में निराशा के बादल छाये रहेंगे। लेकिन अगर आपके हाथ में सूर्य रेखा मजबूत है तो आप सफलता प्राप्त कर सकते हैं, इसी प्रकार अन्य रेखाओं एवं पर्वतों के प्रभाव से भी परिणाम बदल सकता है।

विभाजित रेखा (डिवाइडेड फटे लाइन): भाग्य रेखा अगर दो भागों में विभाजित हो या टूटकर अंग्रेजी के य की तरह दिखे तो यह द्वंद की स्थिति बनाता है यानी आप आप अपना लक्ष्य लक्ष्य सही प्रकार से निर्घारित नहीं कर पाते हैं और मन में उठते विचारों से लड़ते हैं। एक शब्द में कहें तो आप दो नाव की सवारी करते हैं।

आड़ी तिरछी रेखा (ज़िग ज़ग फटे लाइन): हथेली में भाग्य रेखा अगर आड़ी तिरछी हो तो समझ लीजिए आपकी जिन्दग़ी में काफी उतार-चढ़ाव व परिवर्तन आने वाला हैं। आप जीवन में संघर्ष और बाधाओं को पार करके ही अपने भाग्य का फल प्राप्त कर पाएगे। आपको आसानी से कुछ भी मिलने वाला नहीं है। इस प्रकार की रेखा यह भी बताती है कि आप निर्णय की घड़ी में उहापोह में रहते हैं अर्थात क्या करें क्या न करें वाली स्थिति आपकी हो जाती है।

टूटी रेखा (ब्रोकन फटे लाइन): भाग्य रेखा अगर टूटी हुई है तो जहां पर यह रेखा टूटी है वहां पर आपको खतरा हो सकता है अर्थात उस उम्र में आपके साथ कोई दुर्घटना घट सकती है अथवा आप गंभीर रूप से बीमार हो सकते हैं। कुल मिलाकर कहा जाय तो उम्र के इस पड़ाव में कुछ भी ऐसा हो सकता है जिससे जीवन पर संकट आ सकता है। आपका यह समय कष्टमय रहेगा।

जंजीरदार या लहरदार रेखा (चेंड फटे लाइन): भाग्य रेखा जंजीरदार या लहरदार हो तो यह इस बात का संकेत है कि आपके कार्यो में उतार चढ़ाव बना रहेगा, आप सफलता और असफलता के बीच हिचकोले खाते रहेंगे। आपका काम कभी तो असानी से बन जाएगा तो कभी छोटा मोटा काम निकलवाने के लिए भी आपको कड़ी मेहनत करनी होगी।

अदृश्य रेखा : यह जरूरी नहीं कि जिनकी हथेली में भाग्य रेखा होती है उन्हीं का भाग्य होता है, जिनकी हथेली में भाग्य रेखा नहीं होती है उनका भी भाग्य होता है ऐसा हस्त रेखा विज्ञान कहता है। जिनकी हथेली में भाग्य रेखा नहीं होती है उनका भाग्य अन्य रेखाओं के आंकलन के आधारित होता है ।

भाग्य रेखा के साथ-साथ कई रेखा ऊपर की ओर जाती हो तो ऐसा जातक अतुलनीय धन पाता है। जिस जातक की भाग्य रेखा त्रिकोण से प्रारंभ हो तो ऐसा जातक अपनी प्रतिभा के बल पर उन्नति पाता है। चंद्र पर्वत को क्रास करती हुई रेखा भाग्य रेखा हो तो ऐसा जातक अपने जीवनकाल में कई बार विदेश यात्रा करता है।

भाग्य रेखा की सहायक रेखा हो तो ऐसी रेखा वाला जातक भाग्यवान होता है। भाग्य रेखा मस्तक रेखा से आगे स्वस्तिक बना रही हो तो ऐसा जातक प्रतिभाशाली, प्रतिष्ठित होता है। उसका आशीर्वाद लेना ही शुभ होता है। यदि भाग्य रेखा स्पष्‍ट सीधी होकर शनि पर्वत से सूर्य पर्वत की और मुड़ जाए तो ऐसा जातक सफल कलाकार होता है।

भाग्य रेखा मस्तक रेखा से आगे ना बढ़े तो वह जातक अपने दिमाग से कार्य करने वाला व बाधाओं का सामना करने वाला होता है। भाग्य रेखा आड़ी-तिरछी हो व कटी हो ‍तो जीवन में अनेक बार बाधाओं का शिकार होता है।

Lost Password

Register