जॉब

हिंदी दिवस: 14 सितंबर को ही क्यों मनाया जाता है हिंदी दिवस

हिंदी दिवस: 14 सितंबर को ही क्यों मनाया जाता है हिंदी दिवस

हिंदी दिवस (Hindi Diwas): हिंदी बोलने लिखने और पढ़ने वालों के लिए आज बहुत ही खास दिन है। दरअसल आज हिंदी दिवस है। आज ही के दिन 14 सितंबर 1949 को हिंदी को राजभाषा का दर्जा दिया गया था। तब से लेकर आज तक हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस के तौर पर मनाया जाता था। वैसे तो हर भाषा का अपना विशेष महत्व है लेकिन हिंदी हम लोगों के लिए बेहद ही खास है। मुहम्मद इकबाल ने 1905 में लिखा था ‘हिंदी है हम वतन है हिंदोस्ता हमारा’ उस समय ये ब्रिटिश राज के विरोध के रूप में लिखा गया था लेकिन बाद में यही लाईने हिंदी भाषियों के देश प्रेम का प्रतीक बन गई। हर साल 14 सितंबर को हिंदी मनाया जाता है लेकिन बहुत से लोगों को ये नही पता है कि हिंदी दिवस आखिर मनाया क्यों जाता है। तो आइये जानते है हिंदी दिवस मनाने का कारण-

जब साल 1947 को भारत देश आजाद हुआ तो देश के सामने सबसे बड़ा सवाल था राजभाषा को लेकर। क्योंकि भारत जैसे विशाल देश में सैकड़ों भाषाएं और बोलियां बोली जाती है ऐसे में राजभाषा का दर्जा किसे दिया जाएं ये सबसे बड़ा सवाल था। बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की अध्यक्षता में जब 6 दिसंबर 1946 को आजाद भारत का संविधान तैयार किया गया तो उनके सामने भी राष्ट्रभाषा काफी अहम मुद्दा था। काफी सोच विचार के बाद हिंदी और अंग्रेजी को राष्ट्र की भाषा के रूप में चुना गया। संविधान सभा ने देवनागरी लिपी में लिखी हिंदी को अंग्रेजी के साथ अधिकारिक भाषा के तौर पर स्वीकार किया था। इसके बाद 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत होकर निर्णय लिया कि हिंदी ही भारत की राजभाषा होगी। 26 जनवरी 1950 को भारत आजाद हुआ जिसके बाद हिंदी को राजभाषा के तौर पर लागू कर दिया गया। हिंदी के महत्व को देखते हुए प्रथम प्रधानमंत्री पं जवाहरलाल नेहरू ने हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाने का फैसला किया। इसके बाद सबसे पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया था। उसके बाद से लेकर आज तक हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है।

जब 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से हिंदी को राजभाषा का दर्जा दिया तो अंग्रेजी भाषा को हटाए जाने की खबर से देश के कुछ हिस्सों जैसे तमिलनाडु आदि में विरोध प्रदर्शन हुए। इतना ही नही 1965 में तो तमिलनाडु में भाषा के विवाद को लेकर दंगे भी हुए।

हिंदी भाषा के सम्मान में हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। इस दिन हिंदी भाषा को एक त्यौहार की तरह मनाने के साथ ही कई तरह प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती है ताकि आने वाली पीढ़ी में हिंदी भाषा के प्रति रूचि विकसित हो। इसके अलावा कवियों और लेखकों द्वारा हिंदी के प्रति अपने प्रेम को प्रदर्शित किया जाता है।

Lost Password

Register