देश

12 साल से कम उम्र के लड़कों के साथ यौन उत्पीड़न और कुकर्म करने वालों को मिलेगी मौत की सजा

12 साल से कम उम्र के लड़कों के साथ यौन उत्पीड़न और कुकर्म करने वालों को मिलेगी मौत की सजा

केंद्रीय कैबिनेट पहले ही देश में छोटी बच्चियों के साथ बढ़ते जा रहे यौन शोषण और दुष्कर्म के मामलों में मौत की सजा को हरी झंडी दिखा चुका है। लेकिन अब सरकार ने एक और अहम फैसला लिया है। बता दें कि 12 साल से कम उम्र के लड़कों के साथ यौन उत्पीड़न और कुकर्म करने वालों को भी फांसी की सजा दी जाएगी। कानून मंत्रालय ने महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के प्रस्ताव पर पॉक्सो एक्ट में लड़का या लड़की के बीच इस अंतर को खत्म करने को खत्म करने की मंजूरी दे दी है।

आपको बता दें कि कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद ही बुधवार को शुरू हुए मानसून सत्र में ही पॉक्सो एक्ट में इस नए संशोधन के लिए बिल पेश किया गया है। जिसके बाद अब 12 साल से कम उम्र के लड़कों के साथ यौन उत्पीड़न या कुकर्म करने वालों को भी फांसी की सजा दी जाएगी। देश में छोटी बच्चियों के साथ हो रहे अपराधों के रोकने के लिए पहले ही पॉक्सो एक्ट यानी की प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंसेस एक्ट को कैबिनेट फर्मान के जरिए इसे संशोधित कर चुकी है।

जानकारी दे दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली केंद्रीय कैबिनेट ने बुधवार को इस अध्यादेश की जगह लेने वाले इस कानून को मंजूरी के लिए संसद में पेश करने के लिए हरी झंडी दे दी है। इस बारे में कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने बताया है कि ‘अब क्रिमिनल लॉ (संशोधन) बिल-2018 को मानसून सत्र में पेश किया जाएगा। इस बिल से 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से दुष्कर्म पर फांसी के साथ ही इससे बड़ी उम्र की किशोरियों व महिलाओं से दुष्कर्म पर भी सजा में भी बढ़ोतरी की गई है।’

Lost Password

Register