Loading...
देश

CBSE पेपर लीक मामले में हिमाचल में हुई तीन की गिरफ्तारी

CBSE पेपर लीक मामले में हिमाचल में हुई तीन की गिरफ्तारी

सीबीएसई पेपर लीक मामले में गिरफ्तारी का दौर जारी है। शनिवार को हिमाचल प्रदेश के एक अध्यापक सहित तीन लोगों की गिरफ्तारी की गई है। दरअसल, इन आरोपियों की गिरफ्तारी हैंड रिटेन फॉर्म में लीक हुए 12 वीं की अर्थशास्त्र के पेपर के मामले में हुई है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार अध्यापक के अलावा एक क्लर्क और एक सपॉर्ट स्टाफ भी शामिल हैं।

बता दें कि सीबीएसई 12वीं के अर्थशास्त्र और 10वीं के गणित का पेपर लीक हो गया था, जिसके बाद परीक्षा को रद्द कर दिया गया था। 12वीं के अर्थशास्त्र के पेपर के लिए नई तारीखों की घोषणा कर दी गई है। इसकी परीक्षा 25 अप्रैल को होगी।

वहीं दिल्ली हाईकोर्ट ने 10वीं की परीक्षा दोबारा कराये जाने के बारे में सीबीएसई से उनका रुख स्पष्ट करने को कहा था। कोर्ट ने इसके लिए सीबीएसई को 16 अप्रैल तक का वक्त दिया था। साथ ही 10वीं की परीक्षा दोबारा कराने को लेकर सीबीएसई को फैसला लेने को भी कहा गया था।

इस मामले में सीबीएसई ने अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि, फिलहाल हम इस मामले की जांच कर रहे हैं कि 10वीं की परीक्षा का पेपर किस स्तर पर लीक किया गया। क्या ये लीक केवल दिल्ली, एनसीआर और हरियाणा में ही हुआ या फिर इन राज्यों के बाहर भी पेपर लीक किया गया। सीबीएसई की इस बात पर हाईकोर्ट के एक्टिंग चीफ जस्टिस गीता मित्तल और जस्टिस सी. हरि शंकर की बेंच ने कहा कि 10वीं की परीक्षा छात्रों के लिए काफी अहम है, क्योंकि छात्र इस रिजल्ट के आधार पर ही 11वीं में किस स्ट्रीम में पढ़ाई करें वो तय करते हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने हाल ही में इस मामले में दो टीचरों और एक कोचिंग संचालक समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया था। दोनों टीचरों पर कोचिंग संचालक को सीबीएसई का पेपर भेजने का आरोप है। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने बताया था कि पुलिस ने बताया था कि दोनों शिक्षकों ने परीक्षा से पहले ही सुबह 9:15 बजे एक कागज पर प्रश्नपत्र और उत्तर लिखा हुआ फोटो क्लिक कर कोचिंग संचालक को भेजा था। फिर कोचिंग संचालक ने इसे छात्रों को भेज दिया था। ये पेपर हस्तलिखित रूप में लीक किए गए थे

Lost Password

Register